Computer Essay in Hindi - कंप्यूटर पर हिंदी में निबंध लिखें ।

Computer Essay in Hindi - स्वतत्र भारत में कम्प्यूटर की उपयोगिता कम्प्यूटर और हमारा जीवन अथवा कम्प्यूटर एक मानव मस्तिष्क अथवा कम्प्यूटर आज की आवश्यकता ।


प्रस्तावना - Computer Essay in Hindi


आवश्यकता आविष्कार की जननी है । अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए मानव नित नये आविष्कार करता आया है ।

अत्यंत विकट समस्याओं का हल वह मशीनों से करना चाहता है । इसी आवश्यकता को पूर्ण करने के लिए कम्प्यूटर का आविष्कार किया गया ।

मानव जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में कम्प्यूटर का प्रभाव बढ़ता हिन्दी , कावा जा रहा है । इसकी उपयोगिता बढ़ रही है । बैंक , उद्योग सभी प्रतिष्ठानों में कम्प्यूटर का प्रयोग होने लगा है ।


कम्प्यूटर का महत्व - Computer Essay in Hindi



कम्प्यूटर यांत्रिक मशीन का रूपात्मक योग है । एक आज्ञाकारी यंत्र है । यह अनुदेशों का पालन बड़ी कर्तव्यपरायणता से करता है ।

वह एकाकी लम्बे और बार - बार दुहराने वाले कार्यों से नहीबकता है । बड़ी तीव्र गति वाला होता है । वर्तमान काप्यूटर प्रति सेकण्ड में दस लाख योग संक्रियाएँ कर सकता है ,

परन्तु इसमें प्रमुख विशेषता यह है कि इस एक ही यंत्र में लाखों एवं करोड़ों हल अंकित करने की प्रबल क्षमता होती है ।

कम्प्यूटर का उपयोग -


हमारे भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी ने जिस 21वीं सदी की कल्पना की थी वह सदी कम्प्यूटर युग कहलाती है । इसकी उपयोगिता बढ़ने से कुछ ही समय में दूर की सूचनाएँ ज्ञात हो जाती हैं । वर्तमान समय में निम्नलिखित क्षेत्रों में कम्प्यूटर का उपयोग हो रहा है.


1 . शिक्षा के क्षेत्र में - भारत में गणित के क्षेत्र में कम्प्यूटर ने महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त किया है । कई परीक्षा परिषदें और विश्वविद्यालय परिणाम बनाने में तथा परीक्षा परिणाम घोषित करने में कम्प्यूटर का प्रयोग करते हैं ।


2 . आरक्षण के क्षेत्र में - वायुयान या रेल यात्रा के आरक्षण की व्यवस्था कम्प्यूटर के द्वारा की जाती है । रेल तथा बस का समय भी कम्प्यूटर के ही द्वारा पता चलेगा ।


3 . बैंकिंग के क्षेत्र में - भारतीय बैंकों के बड़े कार्यालयों में खातों का हिसाब - किताब रखने में कम्प्यूटर का प्रयोग किया जाने लगा है । कई राष्ट्रीकृत बैंकों ने नयी चुम्बकीय संख्या वाली चेक बुक जारी की है ।


4 . सूचना एवं प्रसारण के क्षेत्र में - कम्प्यूटर नेटवर्क के द्वारा देश - विदेश को तथा नगरों को एक - दूसरे से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है ।


5 . प्रकाशन के क्षेत्र में - कम्प्यूटर ने पुस्तकों और समाचार - पत्रों के संपादन में महत्वपूर्ण योगदान दिया है । समाचार - पत्रों के संपादन में इसके द्वारा सामशी तैयार की जाती है । इलेक्ट्रॉनिक प्रिन्टर शीघ्र ही मुद्रित सामग्री तैयार कर देते हैं । कम्प्यूटर द्वारा पुस्तकों का अध्ययन भी किया जा सकता है ।


उपसंहार - Computer Essay for Hindi



कम्प्यूटर का भविष्य उज्ज्वल है , किन्तु इसके प्रयोग ने मानव को पंगु बना दिया है । कई लोगों का काम अकेले करने के कारण बेरोजगारी की समस्या उत्पन्न हो गई है ।

कम्प्यूटर टेक्नोलॉजी ने भारत के आर्थिक क्षेत्र में क्रांति ला दी है । यद्यपि आज का विश्व कम्प्यूटर युग में श्वास ले रहा है । कम्प्यूटर पर वर्तमान विश्व निर्भर है । यह चुटकियों में समस्या का समाधान कर देगा । वह दिन शीघ्र आयेगा , जब सबके हाथों में कम्प्यूटर होगा ।


Read Also:-


अथवा

computer essay in Hindi part 2


कम्प्यूटर की देन कम्प्यूटर का शब्दिक अर्थ है गणक या गणना करने वाला । यह एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है ,

जो उपयोग करने वालों के द्वारा दिए गए निर्देशों का निरन्तर क्रमबद्ध पालन करता है । यह यंत्र इलेक्ट्रिकल , मैकेनिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक्स का मिला - जुला रूप है ।

यह यंत्र डाटा को ग्रहण करता है , उसे एकत्र करता है एवं क्रमबद्ध ढंग से क्रियान्वित कर उसे अर्थपूर्ण । डाटा में बदलता है ।

कम्प्यूटर का इतिहास -


कम्प्यूटर की शुरुआत 18वीं शती से हई । लघुगणन के आविष्कारक नेपियर , 17वीं शती में पास्कल , 18वीं शती में चार्ल्स वेवेज ने इसकी रूपरेखा प्रस्तुत की ।

आधुनिक कम्प्यूटर सन् 1944 में अपने अस्तित्व में आया जिसमें आई . बी . एम . ( इन्टरनेशनल बिजनेस मशीन्स ) कम्पनी और हार्वर्ड विश्वविद्यालय के संयुक्त प्रयास से प्रथम डिजिटल कम्प्यूटर अस्तित्व में आया ।

चार्ल्स वेवेज कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के प्रोफेसर को डिजिटल कम्प्यूटर का पितामह माना जाता है ।

कम्प्यूटर के प्रमुख अंग – कम्प्यूटर के प्रमुख अंगों के नाम ये हैं -


1 . निवेश इकाई ( INPUT UNIT )
2 . निर्गम इकाई ( OUTPUT UNIT )
3 . केन्द्रीय संसाधन इकाई ( CENTRAL PROCESSING UNIT


कम्प्यूटर के दो भाग होते हैं -
1 . हार्डवेयर ,
2 . सॉफ्टवेयर ।

सभी यूनिट और प्रिन्टर मिलकर हार्डवेयर बनाते हैं । हार्डवेयर पर क्रियान्वित किए जाने वाले प्रोग्राम सॉफ्टवेयर कहलाते हैं । किसी भी समस्या के हल को क्रमबद्ध तरीके से लिखने को प्रोग्राम कहते हैं और कम्प्यूटर पर इसके क्रियान्वयन को प्रोग्रामिंग कहते हैं ।

कम्प्यूटर का उपयोग व महत्व


1 . शद्ध एवं तीव्र गणक का कार्य कम्प्यूटर करता है ।

2 . बैंकिंग हिसाब - किताब में इसका उपयोग किया जाता है ।

3 . लम्बी गणना एवं परिणाम का त्वरित प्रकाशन करता है ।

4 . सूचना का आदान - प्रदान दुनिया के किसी भी कोने से चन्द मिनटों में किया जा सकता है ।

5 . प्रकाशन का कार्य कम्प्यूटर शीघ्रता से करता है ।

6 . देश में अनेक पत्रिकाओं और पत्रों का प्रकाशन होता है , दिन में अनेक समाचार पत्रों का प्रकाशन कम्प्यूटर के द्वारा ही किया जाता है ।

7 . भवन , मोटर - कारों , वायुयानों आदि के डिजाइन में कम्प्यूटर ग्राफिक का प्रयोग किया जा रहा है । वास्तुशिल्पी भी डिजाइन तैयार करने में कम्प्यूटर स्क्रीन का सहारा लेते हैं ।

8 . कलाकार और चित्रकार वास्तविक रंगों से चित्र छापने का कार्य कम्प्यूटर के द्वारा ही करता है ।

9 . अन्तरिक्ष का चित्र और उन चित्रों का विश्लेषण भी कम्प्यूटर के द्वारा किया जा रहा है ।

10 . शिक्षा , चिकित्सा , कृषि , मनोरंजन , सूचना प्रसारण आदि सभी क्षेत्रों में कम्प्यूटर अपना अमूल्य योगदान कर रहा है ।

11 . वायुयान या रेल यात्रा के लिए आरक्षण , परीक्षाफल , मौसम , चुनाव कार्य , शेयर मार्केट आदि से संबंधित समस्त जानकारियाँ कम्प्यूटर के माध्यम से प्राप्त की जा सकती है ।

12 . शिक्षण व्यवस्था एवं परीक्षा में प्रविष्ट होने के लिए विद्यालय , विश्वविद्यालय जाने की आवश्यकता नहीं है , पर बैठे इंटरनेट के माध्यम से अध्ययन - अध्यापन एवं परीक्षा के कार्य किए जा सकते हैं ।


उपसंहार - निष्कर्ष Essay for computer in Hindi



कम्प्यूटर एक मानव मस्तिष्क है जो कम समय में अनेक समस्याओं का हल निकाल सकता है । विश्व के करोड़ों लोग आज इन्टरनेट से जुड़ चुके है ।

कम्प्यूटर से जुड़े इंटरनेट के द्वारा व्यवसाय , स्टॉक , माकड शिक्षा . चिकित्सा , मौसम , खेलकूद के साथ - साथ अन्य किसी भी क्षेत्र की जानकारी प्राप्त की जा सकती है ।

इसका रेलीफोन का उपयोग , ई - मेल भेजना व प्राप्त करना , ई - कॉमर्स द्वारा दुनिया में एक कोने से दसरे कोने तक व्यापार कर मकना आसान हो गया है । इसीलिए कम्प्यूटर आज मानव मस्तिष्क ही नहीं , बल्कि उससे ऊपर कार्य करने वाला यंत्र है । विश्व से रूबरू कराने में अपनी अदभुत भूमिका का निर्वाह कर रहा है ।

Post a Comment

0 Comments