एक बूढ़े आदमी की कहानी - Story of an old man in Hindi

Short Motivation Story Hindi



एक ट्रेन जा रही थी, उसमें एक बूढ़ा आदमी बैठा था , अब उसमें ना 10 12 लड़के चड़ गए, अच्छा अब लड़कों का नाम ही हैं लड़के उनका काम ही है लड़ना । 

अब लड़के चढ़ गए और बूढ़आ आदमी बैठा है, अब लड़कों को सरारत सोझी 

कुछ करो 

खाली बैठे हैं 

बोला चैन खींचो 

कुछ करे अब टाइम पास 

उसने बोला चैन खींचो 

अरे तो पैसा लगेगा ना😁 तो फिर ठीक है ।

चलो 100 200 रुपए निकालो सब 

साला कुछ तो मस्ती करे😁😁 । 

सभी ने पैसे निकाले सब पैसे मिला कर 1200 रुपए हो गया और बूढ़आ आदमी देख रहा था । 

अब उसमें से एक कला कर था, उसने बोला एक ऐसा तरीका हैं जिससे हमारे पैसे भी नहीं जाएंगे, 

बोला चैन खींचो इस बूढ़े का नाम लगा दो 

अब बूढ़ा आदमी सुन रहा था और बोला हमारे को क्यों तकलीफ दे रहे हो हमने तुमहरा क्या बिगाड़ा है, 

लड़के ने बोला बड़ा मज़ा आयेगा, अब बूढ़ा गिड़गिड़ाए। 

अच्छा अब कुछ लोगो को  इसमें ही मज़ा आता है कि कोई गिड़गिड़ाए, 

अब बूढ़ा गिड़गिड़ाए भाई हमको माफ करो हमने तुम्हरा कुछ नहीं बिगड़ा, 

लड़के ने बोला ना आज तो मज़ा चखाएंगे तुझको 

इतने में किसी लड़के ने चैन खींच दी और लड़का खुद ही जाके बोला लाया 

और बूढ़े को बोला इसी ने खींची 

अब बूढ़े ने मान में सोचा अगर में माना कर दूंगा तो मेरी सुनेगा कोन ये 10 12 लड़के, 

अधिकारी ने बोला तूने चैन खींची 

बूढ़े ने बोला जी हुजूर, हमी ने खैची

अधिकारी ने बोला क्यों खींची 

बूढ़ा बोला ये 1200 रुपय मेरे चीन लिए इन लड़कों ने मैंने चिंता के मारे चैन खींच दी, मारता ना तो क्या करता मैंने चियन खींच दी, 

और गीनो इनके पास हैं कि नहीं बूढ़ा तो देख रहा था, 

पैसे गिने तो 1200 रुपए 

अधिकारी ने लड़कों से पैसे लिए महराज ये लो आपके पैसे  

और लड़कों को अगले स्टेशन पर उतर कर लेजाने लगे और बूढ़ा खिड़की में बैठा दड़ी में हाथ मार रहा । 

बूढ़े ने बोला - ये बाल दुप में यूं ही सफेद नहीं हो रहे बाबू । 

Post a Comment

0 Comments